• 04:14 am
news-details
एजुकेशन

विद्यार्थियों के लिए लाभकारी होगा क्यूआर कोड

अभिनव इंडिया/तेजवंत शर्मा
गुरुग्राम।
शिक्षा को रोचक बनाने के उद्देश्य से राष्ट्रीय शिक्षक अवार्ड से सम्मानित मौलिक मुख्याध्यापक मनोज कुमार लाकड़ा नित्त नए प्रयोग करते रहते हैं। इसी कड़ी में उन्होंने अब शिक्षा के लिए क्यूआर कोड सृजित किए हैं। उनका कहना है कि अक्सर किसी भी सामान्य चार्ट में फोटो ही होता है। फोटो देखने मात्र से छात्रों को कोई जानकारी प्राप्त हो जाए, यह सम्भव नहीं है। 
जिले के बजघेड़ा गांव स्थित शहीद मेजर विनोद राणा राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय बजघेड़ा में मौलिक मुख्याध्यापक एवं इस वर्ष के प्रदेश के राष्ट्रीय शिक्षक अवार्ड से सम्मानित शिक्षक मनोज कुमार लाकड़ा ने आईटीसी श्रेत्र में मोबाइल लर्निंग को विशेष तौर पर अपनाया। जिसमें वे क्यू-आर कोड द्वारा विशेष जानकारी बच्चों को उपलब्ध करवा रहे हैं। मनोज कुमार लाकड़ा के मार्गदर्शन में कक्षा बारहवीं के छात्र हिमांशु ने विशेष क्यू-आर कोडिड चाट्र्स का निर्माण किया है, जिनमें भारतीय प्रधानमंत्री, भारतीय राष्ट्रपति, हरियाणा के मुख्यमंत्री, हरियाणा के महान खिलाड़ी, भारतीय महान वैज्ञानिक, भारतीय नदियां, मानव तंत्र, फलदार पेड़, भारत का नक्शा, हरियाणा का नक्शा, कक्षा छठी से कक्षा दसवींं तक की सभी पाठ्य पुस्तकें कक्षावार क्यू-आर कोडिड चार्ट बनाए हैं, जिन्हें बच्चे मोबाइल फोन द्वारा क्यूआर को स्कैनर ऐप की सहायता से स्कैन कर इनके विषय में तुरंत व विस्तृत जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। विशेष रूप में भारत का नक्शा, जिसमें सभी राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों के क्यूआर कोड, हरियाणा का नक्शा जिसमें सभी जिलों के क्यू-आर कोड निर्धारित स्थान पर नाम सहित दर्शाया गया है। ये क्यू-आर कोडिड नक्शे बड़े ही आकर्षक बने हैं। इन क्यू-आर कोडिड चाट्र्स को विद्यालय की हर कक्षा में लगाया गया हैं।
क्यूआर कोडिड चाट्र्स शिक्षण सहायक सामग्री के रूप में प्रयोग: 
शिक्षक मनोज कुमार लाकड़ा का कहना है कि अध्यापक को अपने शिक्षण कार्य को रोचक तथा प्रभावशाली बनाने के लिए कई प्रकार के संसाधनों का प्रयोग करना पड़ता है। वही संसाधन अधिक उपयोगी होते हैं, जो छात्रों को सीखने के लिए अधिक अनुभव प्रदान करे। अध्यापक इसके लिए बच्चों की रूचि के हिसाब से शिक्षण सहायक सामग्री का प्रयोग करता है, जो बच्चों की ज्ञानेन्द्रियों, आंख और कान को अधिक सक्रिय बनाकर उनके लिए विशेष सामग्री को अधिक सुबोध, रोचक व  प्रभावशाली  बनाता है। 
 

You can share this post!

Comments

Leave Comments