• 12:33 am
news-details
कामगार

एनएचएम कर्मियों ने सिविल सर्जन का किया घेराव

अभिनव इंडिया/तेजवंत शर्मा
गुुरुग्राम।
नेशनल हेल्थ मिशन कर्मचारी संघ हरियाणा की गुरुग्राम जिला इकाई की ओर से अपनी मांगों व समस्याओं के प्रति अधिकारियों के उदासीन रवैये व बैठक न करने के कारण मुख्यालय के  घेराव का सिविल सर्जन डा. प्रदीप को ज्ञापन सौंपा।
ज्ञापन में कहा गया कि एनएचएम कर्मचारी संघ हरियाणा के कर्मचारियों की ज्वलंत मांगों व समस्यायों के निराकरण के लिए समय प्रदान किया जाये। अगर एक सप्ताह के अंदर समस्यायों का निराकरण नहीं किया गया या वार्ता के लिए समय प्रदान नही किया गया तो कर्मचारियों को मजबूरन आदोलन करना पड़ सकता है। बड़े खेद का विषय है की गत छह माह से संघ द्वारा बार बार अनुरोध उपरांत भी न तो कर्मचारियों की ज्वलंत समस्यायों के निराकरण के लिए बात तक करने का समय नहीं दिया जा रहा। ना ही किसी मांग पर कोई कार्रवाही की गई  है। इसे लेकर कर्मचारियों में रोष है। अन्य मांगों में बताया कि रेफेरल ट्रांसपोर्ट सर्विस (एम्बुलेंस सेवा) में कार्यरत कर्मचारियों का जो ड्यूटी रोस्टर 12-12 घंटे के हिसाब से भेजा गया है, वो सरासर श्रम कानून (आर्टिकल 1961 चैप्टर-5) की अवमानना है। श्रम कानूनों के अनुसार कर्मचारी से एक सप्ताह में अधिकतम 48 घंटे ही काम लिया जा सकता है। एम्बुलेंस सेवा एक आपातकालीन सेवा है। इसलिए रेफेरल ट्रांसपोर्ट सर्विस (एम्बुलेंस सेवा) का ड्यूटी रोस्टर श्रम कानूनों की पालना करते हुए अन्य आपातकालीन सेवा प्रदाता की तरह ही बनाये। इसके अलावा हरियाणा में ड्राईवर, कंप्यूटर ऑपरेटर, सूचना सहायक को आउटसोर्स के माध्यम से भर्ती किया जा रहा है। आउटसोर्स प्रथा को खत्म किया जाये इनकी भर्ती एनएचएम के माध्यम से की जाये।
 

You can share this post!

Comments

Leave Comments