• 03:43 am
news-details
समाजिक

प्राचीन सांस्कृतिक धरोहर को संजोए रखना हमारा दायित्व: एडीसी 

अभिनव इंडिया/एम मुस्तफा
नूंह।
उपमंडल फिरोजपुर-झिरका के गांव मांड़ीखेड़ा में तीज महोत्सव पुरानी परंपराओं के साथ नए लुक में मनाया गया। रा.व.मा.विद्यालय में आयोजित उपमंडल स्तरीय तीज महोत्सव में जिला की अतिरिक्त उपायुक्त सुभिता ढाका ने बतौर मुख्य अतिथि शिरकत की। इस अवसर पर अतिरिक्त उपायुक्त ने झूला झूलकर तीज का त्यौहार मनाया। ग्रामीण महिलाओं को संबोधित करते हुए एडीसी ने कहा कि तीज त्यौहार हमारी प्राचीन सांस्कृतिक धरोहर है। इसे संजोए रखना हम सबका दायित्व है। बीते वक्त के साथ आधुनिकता के इस युग में त्योहारों तथा अन्य सामाजिक उत्सवों का आकर्षण कम हो रहा है। जिससे आम आदमी खुशी बांटने के शुभ अवसरों को खो रहा है।             
सुभिता ढाका ने कहा कि सभी सामाजिक उत्सव एवं त्योहारों का संदेश परस्पर आत्मीयता, लगाव तथा प्रेम को बढ़ावा देता है। लिहाजा हमें अपनी पुरानी सामाजिक रस्मों के साथ सभी त्योहार मनाने चाहिए। इससे आपसी प्यार बढ़ेगा और पुरानी परंपराएं जीवंत रहेगी। उन्होंने कहा कि आजादी के 75 वें दिवस पर सरकार द्वारा अमृत महोत्सव मनाया जा रहा है। इसी सिलसिले में प्राचीन ग्रामीण परंपराओं के साथ उपमंडल स्तर पर तीज महोत्सव आयोजित किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि पुराने सामाजिक सरोकारों को संजीव रखने की वर्तमान में जरूरत है। इसके लिए हमें लुप्त हो रही प्राचीन पद्धति एवं सामाजिक व सांस्कृतिक विधाओं को संजोना होगा। उन्होंने कहा कि हरियाली तीज का यह उत्सव सांस्कृतिक जागरूकता का नमूना है। उन्होंने कहा कि हरियाली तीज में महिलाएं अपने सुहाग की सलामती के लिए व्रत भी रखती है। इसके अलावा ग्रामीण परिवेश में सावन के गीतों की गूंज के साथ झूला झूल कर सभी एक दूसरे को बधाई देते हैं। सावन का महीना सामाजिक सरोकारों की दृष्टि से अत्यंत महत्वपूर्ण माना जाता है। इस महीने में सभी महिलाओं को उनके पीहर पक्ष की तरफ से संधारा यानि कोथली भेजने की परंपरा है। इसमें घरेलू निर्मित गुलगुले, सुवाली, घेवर, फिरनी, पतासे व अन्य मिष्ठान भेजे जाते है, जिसे महिलाएं आपस में बांट कर एक दूसरे को त्योहार की शुभकामनाएं देती है। उन्होंने कहा कि हरियाणवी त्यौहार अतुलनीय है इसलिए सभी को पूरे उत्साह से इनका आनंद लेना चाहिए। कार्यक्रम के अवसर पर स्वयं सहायता समूह की महिलाओं द्वारा घरेलू उत्पाद के स्टालों की प्रदर्शनी भी लगाई गई। 
 

You can share this post!

Comments

Leave Comments