• 02:11 am
news-details
राजनीति

टेंडर में हुई करोड़ों की घालमेल पर आम आदमी ने खोला मोर्चा

-विधायक व पूर्व निगमायुक्त पर लगाए गंभीर आरोप
अभिनव इंडिया/परमेंद्र कौशिक
गुरुग्राम।
आम आदमी पार्टी ने नगर निगम में सफाई का ठेका देते समय करोड़ों का घालमेल किए जाने का आरोप लगाया है। आम आदमी पार्टी का कहना है कि पूर्व निगमायुक्त ने बादशाहपुर के विधायक को फायदा पहुंचाने के लिए सफाई का टेंडर दिए जाते समय अनियमितताएं बरती हैं। इस सबके खिलाफ कार्रवाई किए जाने को लेकर पार्टी के कार्यकर्ताओं राज्यपाल के नाम डीसी को ज्ञापन सौंपा। जिसमें मांग की गई कि इस ठेके को तत्काल प्रभाव से निरस्त कराते हुए तत्कालीन निगमायुक्त विनय प्रताप सिंह और ठेकेदारों व विधायक राकेश दौलताबाद के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाए।
आम आदमी पार्टी की जिला इकाई की ओर से जिला अध्यक्ष मुकेश डागर की अगुवाई में पार्टी के पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं ने ज्ञापन में आरोप लगाया कि इस साल अप्रैल में छोड़े गए सफाई के टेंडर में भारी अनियमितताएं बरती गई हैं। निगम में पहले चार जॉन होते थे। लेकिन, उन्हें बढ़ाकर दस कर दिया गया। तत्कालीन निगमायुक्त विनय प्रताप ने ठेकेदारों व बादशाहपुर के विधायक राकेश दौलताबाद को लाभ पहुंचाने के लिए सफाई कर्मचारी की संख्या भी करीब 2000 से बढ़ाकर 3200 कर दी। इसमें निगम पर करीब 46 करोड़ रुपए का अनावश्यक बोझ पड़ा है। वहीं यह भी आरोप लगाया गया है कि तत्कालीन निगम कमिश्नर विनय प्रताप ने अपने चहेतों को टेंडर दिलाने के लिए उन्हीं के हिसाब से नए नियम व शर्तें बनाई गई। अपने चहेतों को लाभ देने के लिए सर्विस चार्ज  2 प्रतिशत से बढ़ाकर 5 प्रतिशत कर दिए गए। इस वृद्धि में नगर निगम गुरुग्राम को 2 साल में लगभग 60 करोड़ से ज्यादा का नुकसान होगा। जबकि इस चार्ज को बढ़ाने की किसी भी ठेकेदार की कोई मांग नहीं थी। आज भी पुराने रेटों पर कई एजेंसियां काम करने के लिए तैयार हैं। इन 10 जोन के टेंडरों के कारण गुरुग्राम की जनता के द्वारा टैक्स के रूप में दिए गए धन का बहुत ज्यादा दुरुपयोग किया जा रहा है। उपरोक्त टेंडरों में दो जोनों के टेंडर बादशाहपुर विधानसभा से निर्दलीय विधायक व हरियाणा एग्रो इंडस्ट्रीज कॉरपोरेशन के चेयरमैन राकेश दौलताबाद की कंपनी मैं मैसेज आरके एंड कंपनी मेन पावर प्राइवेट लिमिटेड को करोड़ों रुपए के टेंडर दिए गए हैं।
भारतीय संविधान के लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम 1951 के सेक्शन 9 ए के तहत सरकार का कोई भी प्रतिनिधि सरकारी टेंडर या ठेकों को नहीं ले सकता। अगर प्रतिनिधि ऐसा करता है तो इस कानून के तहत उनकी सदस्यता निरस्त हो सकती है। आम आदमी पार्टी ने इस मामले की निष्पक्ष जांच व उपरोक्त के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।
ज्ञापन सौंपने वाले में आप बादशाहपुर विधानसभा अध्यक्ष डॉक्टर सारिका वर्मा, गुरुग्राम विधानसभा अध्यक्ष महावीर वर्मा, दक्षिणी हरियाणा लीगल सेल के अध्यक्ष एडवोकेट अशोक वर्मा, गुरुग्राम लीगल सेल की महिला अध्यक्ष अलरीना सेनापति तथा गुरुग्राम की अधिवक्ता महासचिव रजिया परवीन व गुरुग्राम विधानसभा महिला अध्यक्ष सुशीला कटारिया, गुरुग्राम उपाध्यक्ष नितिन कुमार, नगर निगम संयोजक तेजिंदर सैनी गुरुग्राम, आप के युवा अध्यक्ष रुस्तम भाई, वार्ड 21 से गौरव टांग, वार्ड 22 से उत्तम वशिष्ठ व अन्य कार्यकर्ता मौजूद थे।
 

You can share this post!

Comments

Leave Comments