• 03:59 pm
news-details
पंजाब-हरियाणा

बरसात से पानी-पानी हुई साइबर सिटी

-जिला प्रशासन के दावों की खुली पोल
अभिनव इंडिया/परमेंद्र कौशिक
गुरुग्राम।
शहर में सोमवार की सुुबह हुई बरसात ने साइबर सिटी गुरुग्राम को जलमग्र कर दिया। शहर में हुई 120 एमएम बारिश ने जिला प्रशासन के जलनिकासी के दावों की कलई खोलकर रख दी। लोगों से करीबन तीन सौ करोड़ रुपये सालाना प्रापर्टी टैक्स वसूलने वाले नगर निगम की तैयारियां पूरी तरह फेल हो गई। कई इलाकों में बाढ़ जैसे हालात पैदा हो गए। दिन भर बारिश होती रही और सडक़ों, अंडरपास व कालोनियों में जलभराव से राहत नहीं मिली। काफी कर्मचारी सरकारी व निजी कार्यालयों तक नहीं पहुंच पाए और बारिश के दौरान फंस गए। लोगों के वाहन पानी में फंस गए तो छोडक़र पैदल जाना पड़ा। कई कारें जलभराव में डूब गई।
शहर में जलभराव से निपटने के लिए नगर निगम और गुरुग्राम मेट्रोपालिटन डेवलपमेंट अथारिटी (जीएमडीए) के अधिकारी मानसून में एक महीने से रिहर्सल कर रहे थे। हर वर्ष की तरह इस बार भी अधिकारी जलभराव से निपटने के दावे करते नहीं थक रहे थे। जिसमें करोड़ों रुपये ड्रेनेज की सफाई आदि पर खर्च किए गए। लेकिन हर साल की तरह समस्या जस की तस, सभी तैयारियों और दावों की हकीकत बारिश में धुल गई। करीब तीन घंटे तक हुई झमाझम बरसात ने शहर के अधिकांश हिस्से को जलमग्र कर दिया। 
शहर का अधिकांश हिस्सा हुआ जलमग्र:
सेक्टर चार-सात, सेक्टर नौ और यहां तक कि नए गुरुग्राम के रिहायशी इलाकों में तीन-तीन फुट तक पानी भरा था। सेक्टर सात में कुछ मकानों के अंदर बारिश का पानी घुसने से बेड सहित अन्य सामान खराब हो गया। नरसिंहपुर, बहरामपुर क्षेत्र में दिल्ली-जयपुर हाइवे की सर्विस लेन पर जलभराव हो गया। बसई रोड पर और बसई क्षेत्र में बसई फ्लाईओवर क्षेत्र जलमग्न हो गया। राजीव चौक अंडरपास के नजदीक कोर्ट के सामने दोनों तरफ पानी ही पानी हो गया। हिमगिरी चौक पर दो फुट पानी भर गया। हुडा सिटी सेंटर क्षेत्र में जलभराव होने से मेट्रो स्टेशन के सामने यात्रियों को परेशानी हुई। वजीराबाद चौक, कन्हैई चौक, गैलेरिया मार्केट ट्रैफिक लाइट के नजदीक, इफको चौक, सिग्नेचर टावर और हीरो होंडा चौक क्षेत्र में जलभराव हो गया। नाहरपुर फुटओवर ब्रिज के नजदीक, सेक्टर सनसिटी, सेक्टर 10 व 10ए, पटौदी रोड, उमंग भारद्वाज चौक, झाड़सा, सेक्टर 15 क्षेत्र में कई जगहों पर बारिश का पानी भर गया। ताऊ देवीलाल स्टेडियम और यहां पर बने कोविड केयर सेंटर के अंदर पानी घुस गया। गनीमत ये रही कि यहां पर कोई मरीज भर्ती नहीं था।
मेदांता अंडरपास से बंद की आवाजाही:
बख्तावर चौक से सेक्टर 15, झाड़सा चौक और दिल्ली-जयपुर हाइवे की तरफ मेदांता अंडरपास के जरिए आने वाले वाहनों की आवाजाही सुबह ही बंद करनी पड़ी। अंडरपास में बारिश का पानी भर गया। हालांकि अंडरपास के बाहर रैंप भी बनाया गया था, लेकिन देवीलाल स्टेडियम की तरफ से पानी का बहाव ज्यादा होने के कारण जलभराव हो गया। 
झील बना शीतला माता रोड:
शीतला माता रोड पर करीब तीन फुट पानी भर गया। मंदिर में दर्शन के लिए पहुंचे श्रद्धालुओं को वापस घर जाना पड़ा। कमर तक पानी भरने के चलते लोग मुश्किल से इस इलाके से निकले। पूरी सडक़ पानी में डूब गई और कई वाहन जलभराव में फंसकर बंद हो गए। 
घरों में कैद हुए लोग:
बरसात के चलते शहर में जलभराव के चलते लोग घरों से भी नहीं निकल सके। सेक्टर 9 के लोगों ने हर बार की तरह इस बार भी परेशानी झेली। घुटनों से ऊपर तक जलभराव हुआ। कारें भी बारिश के पानी से नहीं निकल सकी। यहां पर नगर निगम द्वारा ड्रेनेज सिस्टम नहीं बनाया गया है। खाली प्लाट और सडक़ें झील में तब्दील हो गई।
पानी में बंद हुई सिटी बसें:
शहर में जलभराव होने के कारण सिटी बसों का परिचालन भी प्रभावित हुआ। लक्ष्मण विहार-धनवापुर रोड पर सिटी बस के टायर से ऊपर तक पानी आ गया और बस पानी में बंद हो गई। यात्रियों को उतरकर दूसरे वाहनों के सहारे जाना पड़ा। कई रूटों पर परेशानी हुई और काफी जगह रूटों को बाढ़ जैसी स्थिति होने के कारण डायवर्ट भी किया गया। 
 

You can share this post!

Comments

Leave Comments