• 04:19 pm
news-details
बिजनेस

होलसेलर व रिटेलर को भी मिलेगा एमएसएमई का लाभ

अभिनव इंडिया/परमेंद्र कौशिक
गुरुग्राम।
होलसेलर व रिटेलर को भी एमएसएमई का लाभ मिलने से उन्हें काफी राहत मिलेगी। कर सलाहकार व एमएसएमई वेलफेयर फाउंडेशन के अध्यक्ष पंकज वर्मा ने बताया कि गत दिवस 2 जुलाई को एमएसएमई मंत्रालय ने मेमोरेंडम जारी कर घोषणा की कि आज से ही होलसेलर व रिटेलर व मोटर व्हीकल रिपेयरिंग वाले भी एमएसएमई में खुद को शामिल कर सकते हंै। इसलिए एमएसएमई मंत्रालय ने एनआईसी कोड भी जारी कर दिए हंै। पंकज वर्मा ने बताया कि पहले होलसेलर व रिटेलर एमएसएमई में स्ययं को रजिस्ट्रेशन नहीं करवा सकते थे। जिसके कारण एमएसएमई मंत्रालय द्वारा सूक्ष्म, लघु व मध्यम उद्यमी को मिलने वाले केंद्र सरकार की स्कीमों का लाभ नही मिल पाता था। अब से इन्हें भी वो सभी लाभ मिलने लगेंगे जो एमएसएमई सेक्टर को मिलते थे। पंकज वर्मा ने बताया कि एमएसएमई में व्यापारी को रजिस्टर होने का सबसे बड़ा लाभ यह मिलता है कि व्यापारी बड़ी कंपनियों व सरकारी संस्थाओं में माल सप्लाई व सर्विस देने के बाद पैसे लेने के लिए महीनों-सालों तक चक्कर लगाते रहते थे। जो व्यापारी एमएसएमई में स्वयं को रजिस्टर करा लेगा उसे नियमों के मुताबिक माल सप्लाई व सर्विस की पेमेंट 45 दिन में प्राप्त करने  अधिकार मिल जाता है। भुगतान ना मिलने की सूरत में वह एमएसएमई समाधान पोर्टल पर अपनी शिकायत दर्ज करवा सकता है। एमएसएमई में प्रावधान है कि 45 दिनों के बाद एमएसएमई को बिल की वैल्यू के साथ ब्याज सहित माल व सर्विस लेने वाले को भुगतान करना होगा। एमएसएमई वेलफेयर फाउंडेशन व्यापारियों के हितों की आवाज उठाती है। वहीं व्यापारियों को टैक्स व व्यापार से जुड़ी सूचना उधमियों तक पहुचाने का कार्य करती है। संस्था ने टैक्स व व्यापार से जुड़ी निशुल्क सलाह के लिए नंबर जारी किया है। इस पर कोई भी बेझिझक कॉल या व्हाट्सअप्प करके जानकारी व निशुल्क सलाह ले सकता है।                                                    
 

You can share this post!

Comments

Leave Comments