• 05:19 pm
news-details
समाजिक

समाज को दिशाहीन रास्ते व गर्त में ले जा रही युवाओं में नशे की लत: जयप्रकाश

अभिनव इंडिया/एम मुस्तफा
नूंह।
हर साल दुनियाभर में अंतर्राष्ट्रीय नशा निषेध दिवस (इंटरनेशनल डे अगेन्स्ट ड्र्ग अब्यूज एंड इलिसिट ट्रैफिकिंग) के रूप में मनाया जाता है। संयुक्त राष्ट्र के सहयोग से इस इस दिवस की स्थापना वर्ष 1987 में हुई थी। लोगों को नशे से मुक्त कराने और उन्हें जागरुक करने के उद्देश्य से यह दिवस मनाया जाता है।
इसी कड़ी को आगे बढ़ाते हुए जिला बाल कल्याण परिषद नूंह के द्वारा साइकिल रैली का आयोजन किया गया। साइकिल रैली के माध्यम से शहर के सभी लोगों को नशा से होने वाली हानियों के बारे में अवगत कराया गया। इस मौके पर नगराधीश जयप्रकाश ने साइकिल रैली को हरी झंडी दिखाकर यासीन मेव डिग्री कॉलेज से रवाना किया बाजार से होते हुए पूरे शहर का चक्कर लगाकर बाल भवन  पर समाप्त हुई। 
साइकिल रैली के माध्यम से नगराधीश ने बच्चों को बताया कि नशा, एक ऐसी बीमारी है जो कि युवा पीढ़ी को लगातार अपनी चपेट में लेकर उसे कई तरह से बीमार कर रही है। शराब, सिगरेट, तम्बाकू एवं ड्रग्स जैसे जहरीले पदार्थों का सेवन कर युवा वर्ग का एक बड़ा हिस्सा नशे का शिकार हो रहा है। आज फुटपाथ और रेल्वे प्लेटफार्म पर रहने वाले बच्चे भी नशे की चपेट में आ चुके हैं। उन्होंने बताया कि लोग सोचते हैं कि वो बच्चें कैसे नशा कर सकते है जिनके पास खाने को भी पैसा नहीं होता। परंतु नशा करने के लिए सिर्फ मादक पदार्थो की ही जरुरत नहीं होती, बल्कि व्हाइटनर, नेल पॉलिश, पेट्रोल आदि की गंध, ब्रेड के साथ विक्स और झंडु बाम का सेवन करना, कुछ इस प्रकार के नशे भी किए जाते हैं, जो बेहद खतरनाक होते हैं। उन्होंने कहा कि आज के समाज पढ़ा लिखा होने के बावजूद भी इतने बेपरवाह ही चुके हैं कि अपनी सेहत की तरफ बिल्कुल भी ध्यान नहीं रख रहे। कोरोना महामारी के मद्देनजर भी पूरे विश्व ने देखा है कि को मानसिक और शारीरिक मजबूत है उन्होंने है कोरोना को मात दी है । हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता की मजबूती के बल पर ही ऐसी महामारी को हराया है।
जिला बाल कल्याण अधिकारी कमलेश शास्त्री ने कहा कि जब युवा पीढ़ी है ऐसे दलदल में फस जाएगी तो समाज और देश का विकास संभव नहीं है। उन्होंने बताया कि जिला नूंह हरियाणा प्रदेश में नशे के मामले में प्रथम स्थान पर जो कि शर्मनाक बात है अत: हमें इस बुराई को रोकने के लिए समाज में जागरूकता लानी होगी ताकि युवा पीढ़ी इस बुरी लत से बचकर अपने जीवन को बर्बाद ना करें।
 

You can share this post!

Comments

Leave Comments