• 05:27 pm
news-details
बिजनेस

जीएसटी में केद्र सरकार ने छोटे कारोबारियों को दी बड़ी राहत

अभिनव इंडिया/सुरेंद्र कुमार
गुरुग्राम।
कोरोना महामारी का प्रभाव कारोबारियों पर भी पड़ा है। उनके कारोबार भी प्रभावित हुए हैं। कोरोना के कारण व्यापारी समय पर जीएसटी का काम पूरा नहीं कर पा रहे थे और वे मांग कर रहे थे कि जीएसटी में उन्हें राहत दी जाए। अब सरकार ने आगामी एक जुलाई से छोटे कारोबारियों को जीएसटी में बड़ी राहत देने की घोषणा की है। कर सलाहकार पंकज वर्मा ने बताया कि जीएसटी काउंसिल की 43वीं बैठक में सरकार ने कारोबारियों को जीएसटी में राहत दी है। उनका कहना है कि पहले जिस कारोबारी की सेल जीरो होती थी, उसे भी प्रति रिटर्न 10 हजार रुपए लेट फीस के रुप में देना पड़ता था। वहीं जिस कारोबारी की सेल 100 करोड़ रुपए है, उसे भी अधिकतम 10 हजार रुपए लेट फीस प्रति रिटर्न भरने पर देनी होती थी। जिससे असमानता पैदा हो रही थी और छोटे कारोबारी इस असमानता को दूर करने की मांग करते आ रहे थे। इसी समस्या का समाधान करते हुए केंद्रीय वितमंत्री ने यह बड़ा फैसला लिया है। उनका कहना है कि जिन व्यापारियों की जीएसटी रिटर्न जीरो सेल / परचेज की है उसे अधिकतम 500 रुपए लेट फीस जमा करानी होगी। जिन कारोबारियों का टर्नओवर गत वितवर्ष में 1.5 करोड़ रुपए से कम रहेगा, उनकी अधिकतम 2 हजार रुपए प्रति रिटर्न भरने होंगे। जिनकी टर्नओवर गत वितवर्ष में 1.5 करोड़ से 5 करोड़ से बीच में होगी, उनको अधिकतम लेट फीस 5 हजार रुपए भरनी होगी। बाकी 5 करोड़ से ऊपर टर्नओवर वाले कारोबारियों को अधिकतम 10 हजार रुपए लेट फीस पहले की तरह से ही भरनी होगी। उन्होंने स्पष्ट किया कि यह फीस आधी-आधी एसजीएसटी और सीजीएसटी में जमा करानी होती है। कारोबारियों व कर सलाहकारों ने केंद्रीय वितमंत्रालय के इस निर्णय की सराहना करते हुए कहा है कि छोटे कारोबारियों को इससे बड़ी राहत मिलेगी। 
 

You can share this post!

Comments

Leave Comments