• 04:19 pm
news-details
पंजाब-हरियाणा

दिवंगत निगम पार्षद आरएस राठी को दी श्रद्धांजलि

अभिनव इंडिया/सुरेंद्र कुमार
गुरुग्राम।
मेयर मधु आजाद की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में दिवंगत निगम पार्षद आरएस राठी को श्रद्धांजलि अर्पित की। वहीं निगमायुक्त मुकेश कुमार आहुजा का मेयर मधु आजाद ने निगम पार्षदों की तरफ से स्वागत किया गया। 
दिवंगत निगम पार्षद आरएस राठी को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए मेयर ने कहा कि आरएस राठी कत्र्तव्यनिष्ठ एवं कर्मठ व्यक्तित्व के धनी थे। जिनकी कमी निगम सदन को हमेशा खलती रहेगी। बैठक में मेयर ने कहा कि निगम सदन एवं अधिकारी आपसी तालमेल के साथ कार्य करते हुए शेष बचे कार्यकाल में गुरूग्राम के विकास को और अधिक तेज करेंगे तथा बेहतर कार्य किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि अधिकारी हमेशा निगम पार्षदों द्वारा सुझाए कार्यों एवं उठाई गई समस्याओं का समाधान प्राथमिकता के आधार पर करें। मेयर ने अश्वस्त किया कि गुरूग्राम के विकास में मेयर टीम एवं निगम पार्षदों का भरपूर सहयोग रहेगा।
निगम पार्षदों से परिचय करने उपरान्त निगमायुक्त मुकेश कुमार आहुजा ने कहा कि आप लोग जनप्रतिनिधि हैं तथा धरातल की वास्तविकता के बारे में आपको ज्यादा जानकारी है। उन्होंने सभी निगम पार्षदों से कहा कि वे अपने-अपने वार्डों की प्राथमिकता की सूची तैयार करें। इनके अलावा, लंबित विकास कार्यों, धीमी गति से चलने वाले विकास कार्यों, भविष्य में किए जाने वाले विकास कार्यों तथा खराब गुणवत्ता वाले कार्यों की अलग-अलग सूचि तैयार करें। निगमायुक्त ने कहा कि फिलहाल निगम का उद्देश्य बरसाती पानी की निकासी के पुख्ता प्रबंध करना तथा पौधारोपण करके हरियाली को बढ़ाना है। नगर निगम गुरूग्राम द्वारा इस मानसून में 3 लाख पौधे लगाने का लक्ष्य रखा गया है। इनमें एक लाख बड़े पेड़ तथा 2 लाख झाड़ीनुमा पौधे लगाए जाएंगे। निगमायुक्त ने कहा कि इस बार 10 हजार बड़ तथा 10 हजार पीपल के पौधे लगाए जाएंगे। उन्होंने निगम पार्षदों से पौधारोपण में सहयोग का आह्वान किया। उन्होंने बताया कि पौधारोपण के लिए अधिकारियों द्वारा जगहों की पहचान की गई है। निगम पार्षद भी अपने-अपने वार्ड में जगहों की पहचान करके सहयोग करें।
बैठक में निगमायुक्त मुकेश कुमार आहुजा ने कहा कि नगर निगम को अपने संसाधनों को बढ़ाने पर जोर देना चाहिए। इसके लिए बकाया टैक्स की वसूली करने के लिए उन्होंने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए हैं। इसके साथ ही निगम जमीनों पर इनफ्रास्ट्रक्चर तैयार करके इकॉनोमी को बढ़ाने की दिशा में कार्य किया जाएगा। उन्होंने कहा कि सभी वार्डों में जनता को फेयर मैनर में सुविधाएं मुहैया करवाई जाएंगी। सभी कार्यकारी अभियंताओं को उनके डिवीजनों में कार्यों की प्राथमिकता सूची तैयार करने के निर्देश दिए गए हैं।
निगमायुक्त ने कहा कि चंडीगढ़ में बैठकर गुरूग्राम को देखने एवं धरातल पर देखने में काफी अंतर मिलता है। हम सभी को एक साथ मिलकर गुरूग्राम को बेहतर शहर बनाना है। उन्होंने कहा कि अधिकारियों को गारबेज एवं पॉलीथीन फ्री सिटी बनाने के निर्देश दिए गए हैं। इसके तहत खत्तों या सैकेंडरी कचरा प्वाईंटों की जगह मैटेरियल रिकवरी फैसिलिटी विकसित की जाएंगी। सडक़ों की हालत को सुधारा जाएगा तथा डे्रनेज एवं सीवरेज सिस्टम को दुरूस्त किया जाएगा।
निगमायुक्त ने कहा कि सभी नागरिकों की शिकायतों का समाधान सही तरीके से एवं समय पर हो तथा नागरिकों को उनका बराबर अधिकार मिले। इसके लिए उन्होंने अधिकारियों को एक ऑनलाईन पोर्टल तैयार करने के निर्देश दिए हैं। नगर निगम गुरूग्राम में प्रोफेशनलिज्म को बढ़ावा दिया जाएगा तथा योजनाबद्ध तरीके से गुणवत्तापूर्ण कार्य किए जाएंगे।
बैठक में निगम पार्षदों ने गलत वाटर बिल, सफाई व्यवस्था, स्ट्रीट लाईट, सडक़, निजी कॉलोनियों को टेकओवर करने, जल निकासी के प्रबंध करने तथा वार्ड अधिकारियों एवं कर्मचारियों के अंदरूनी तबादलों में निगम पार्षद की राय लेने संबंधी मामले रखे।
इस मौके पर मेयर मधु आजाद, सीनियर डिप्टी मेयर प्रोमिला गजेसिंह कबलाना, डिप्टी मेयर सुनीता यादव, निगम पार्षद कुलदीप यादव, कुलदीप बोहरा, हेमन्त सेन, विरेन्द्र राज यादव, बह्म यादव, योगेन्द्र सारवान, सुभाष फौजी, संजय प्रधान, अश्विनी शर्मा, सुभाष सिंगला, सीमा पाहुजा, महेश दायमा, अश्विनी शर्मा, अनूप सिंह, शीतल बागड़ी, कपिल दुआ, धर्मबीर सिंह, दिनेश सैनी, सुनील गुर्जर, रविन्द्र यादव, एडीशनल म्म्यनिसिपल कमिश्नर रोहताश बिश्नोई व डीएफओ सुभाष यादव उपस्थित थे।
 

You can share this post!

Comments

Leave Comments