• 05:42 pm
news-details
एजुकेशन

हर्षोल्लास से मनाया डीपीजी कॉलेज का वार्षिकोत्सव

अभिनव इंडिया/अजय शर्मा
गुरुग्राम।
डीपीजी ग्रुप्स ऑफ इंस्टीट्यूट ने अपना वार्षिक-उत्सव ‘अर्पण’ धूमधाम से मनाया। संस्था के पूर्व चेयरमैन स्व. जयसिंह गहलोत के जन्मदिवस की स्मृति में मनाए जाने वाले इस उत्सव में वल्र्ड यूनिवर्सिटी ऑफ डिजाइन के पहले वाईस-चांसलर डॉ. संजय गुप्ता मुख्य-अतिथि के रूप में शामिल हुए। जबकि विशिष्ठ अतिथि के रूप में हरियाणा विधानसभा के पूर्व डिप्टी-स्पीकर चौ. गोपीचन्द गहलोत, फरीदाबाद जिले के पूर्व डीईओ विष्णुदत्त शर्मा सहित मौजूद रहे। संस्था के चेयरमैन राजेन्दर सिंह, वाईस चेयरमैन दीपक गहलोत, जनरल सेक्रेटरी नरेन्दर गहलोत ने सभी का अभिनंदन किया। 
वार्षिक-उत्सव ‘अर्पण 2021’ में विभिन्न प्रकार के सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। चौधरी प्रताप सिंह मेमोरियल चैरिटेबिल ट्रस्ट के अंतर्गत संचालित सभी कॉलेजों के छात्र-छात्राओं ने सांस्कृतिक कार्यक्रम में बढ़चढक़र हिस्सा लिया। इस दौरान पंजाबी-भांगड़ा, हरियाणवी और राजस्थानी लोक-नृत्य, नाटक, पाश्चात्य नृत्य ने सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया। प्रिंसिपल ने अपने-अपने महाविद्यालयों की वार्षिक रिपोर्ट प्रस्तुत किया।
इस अवसर पर गेस्ट ऑफ ऑनर केएस ढाका ने कहा कि एक अच्छे समाज की रचना के लिए छात्रों को अपने चरित्र निर्माण की अति आवश्यकता है। बिना अच्छे चरित्र का व्यक्ति समाज के लिए अभिशाप होता है। वहीं मुख्य-अतिथि डॉ. संजय गुप्ता ने भी अपने संबोधन में छात्र-छात्राओं को आगे बढऩे के लिए प्रेरित किया। उन्होंने कहा कि हमारी भारतीय संस्कृति पाश्चात्य सम्यता से आज भी अग्रणी है। भारत के छात्र अपनी प्रतिभा का परचम पूरे विश्व में लहरा रहे हैं। मुख्य अतिथि ने डीपीजीआईटीएम के छात्र रमेश पाण्डे और डीपीजी पॉलिटेक्निक कॉलेज की छात्रा अदिति को प्रथम स्थान प्राप्त करने के लिए पुरस्कृत किया। वहीं सांस्कृतिक कार्यक्रम में हिस्सा लेकर मेडल हासिल करने वाले छात्र-छात्राओं को भी सम्मानित किया। 
संस्था के वाईस चेयरमैन दीपक गहलोत ने बताया कि इस शिक्षण संस्थान की स्थापना 2004 में संस्थापक स्व. जयसिंह गहलोत ने बी.एड और डी.एड की शुरूआत से किया था। बाद में संस्था के सभी सदस्यों के सहयोग से वर्ष 2007 में इंजीनियरिंग में डिप्लोमा और वर्ष 2011 में इंजीनियरिंग में स्नातक व परास्नातक के दो अन्य महाविद्यालय आरम्भ किये गये। गुडग़ांव एनसीआर में महाविद्यालय का अभाव देखकर वर्ष 2015 में डीपीजी डिग्री कॉलेज की स्थापना की गई। संस्था में शिक्षण संस्थाओं के साथ स्पोस्ट्र्स की सुविधाएं भी उपलब्ध हैं। जिसमें अंतर्राष्ट्रीय स्तर का क्रिकेट-स्टेडियम, बैडमिंटन एकेडिमी, लॉन-टेनिस कोर्ट, वॉलीबाल आदि के लिए अच्छी-खासी सुविधाएं मौजूद हैं।
 

You can share this post!

Comments

Leave Comments