• 03:10 pm
news-details
समाजिक

स्वच्छ व प्रदूषण रहित दीवाली मनाएं 

अभिनव इंडिया/परमेंद्र कौशिक
गुरुग्राम।
ऊर्जा समिति ने दीवाली के पावन त्यौहार पर सभी से स्वयं ही स्वच्छता का प्रमाण देने की अपील की। समिति का कहना है कि त्यौहार मनाना पर परा है तो इसे पर्यावरण अनुकूल बनाना हमारा ही दायित्व है। वातावरण को स्वच्छ रखना, सरकार व प्रशासन द्वारा लागू किया जा रहा है मगर इसे अमल में लाना हम सब का कर्तव्य है।
ऊर्जा समिति के महासचिव संजय कुमार चुघ ने कहा कि हमें पर्यावरण में संतुलन बनाते हुए स्वच्छ व प्रदूषण रहित दीवाली मनाने के साथ साथ ऊर्जा को भी बचाना है। वाहनों का धुआं बहुत हानिकारक है और सर्द मौसम में इसका स्तर और बढ़ जाता है। सभी को मिलजुलकर इसे नियंत्रित करना है। विश्व भर में फैली कोरोना महामारी में प्रदुषण जानलेवा हो सकता है।
उन्होंने कहा कि खतरनाक बमों व पटाखों से त्यौहार मनाना अनिवार्य नहीं हैं, अपनी खुशी का इजहार तो दूसरों में खुशियां व प्यार बांटकर कर सकते हैं। लोग अपने पैसों को व्यर्थ न करके शांति और सौहार्द भरे माहौल में दीवाली मनाएं। स्वयं धुआं और धमाका मुक्त त्यौहार मनाने के लिए जागरूक रहें, इसके साथ-साथ अन्य लोगों को भी जागरूक करें।
उन्होंने बताया कि दीवाली पर लोग अपने घरों को बड़े बल्बों व फोकस लाइटों के स्थान पर कम वाट की एलईडी व स्लिम लाइटों का इस्तेमाल करें। इससे बिजली की खपत कम होगी और पर्यावरण संतुलित होगा। ऊर्जा की बचत ही ऊर्जा का उत्पादन है इसीलिए बचत को साधन बना कर ऊर्जा की मांग व आपूर्ति में समन्वय स्थापित किया जा सकता है।
 

You can share this post!

Comments

Leave Comments