• 02:56 am
news-details
एजुकेशन

डीपीजी में मिलेगा पैरा-मेडिकल के प्रशिक्षकों से प्रशिक्षण 

-युवा हैल्थकेयर इंस्टीट्यूट ऑफ एडवांस्ड स्किल्स प्रोग्राम
अभिनव इंडिया/वेद वशिष्ठ
गुरुग्राम।
डीपीजी में छात्र-छात्राओं को अब पैरा-मेडिकल के अनुभवी प्रशिक्षकों से प्रशिक्षण मिलेगा। इस दिशा में डीपीजी कॉलेज ऑफ गु्रप्स ने बुधवार को युवा हैल्थकेयर इंस्टीट्यूट ऑफ एडवांस्ड स्किल्स नामक एक संयुक्त प्रोग्राम की शुरूआत की। इस अवसर पर जिला शिक्षा विभाग के पूर्व अधिकारी विष्णुदत्त शर्मा मुख्य-अतिथि के रूप में शामिल हुए। संस्था के  वाईस-चेयरमैन दीपक गहलोत और जनरल सेक्रेटरी सुरेन्दर गहलोत ने मुख्य-अतिथि का स्वागत किया। संस्था के चेयरमैन राजेन्दर गहलोत ने बताया कि यह प्रोग्राम टीआईएसएस यूनिवर्सिटी स्कूल ऑफ वैकेशनल एजूकेशन के अन्तर्गत संचालित किया जाने वाला प्रोग्राम है। इस तरह के कोर्स की शुरूआत करने का उद्देश्य 12वीं पास विद्यार्थियों को मेडिकल में सहायक पद के लिए उच्चकोटि की शिक्षा के साथ उन्नत प्रशिक्षण देना है। आज के युग में स्वास्थ्य संबन्धी जागरूकता के कारण 12वीं पास युवा छात्र-छात्राओं के लिए इस कोर्स में अपार संभावनाएं हैं। इस उपलक्ष में डीपीजी कॉलेज ऑफ गु्रप्स द्वारा संयुक्त रूप से चलाए जा रहे केन्द्र में पैरा-मेडिकल के अनुभवी प्रशिक्षकों द्वारा अच्छे प्रशिक्षण की सुविधा देने का प्रयास इनके प्रशिक्षुकों और स्वास्थ्य अधिकारियों के बीच कड़ी जोडऩे का काम करेगा।
इस अवसर पर टीआईएसएस यूनिवर्सिटी स्कूल ऑफ वैकेशनल एजूकेशन के पूर्व चेयरमैन बीके सिंघल ने समाज में इस कोर्स की उपयोगिता का महत्व बताते हुए कहा यह सेन्टर शिक्षा के साथ-साथ प्रशिक्षण की अन्य आवश्यकताओं की पूर्ति करेगा। वर्तमान चेयरमैन दिनेश टण्डन ने कहा कि आने वाले समय में भारत पैरामेडिकल हेल्थकेयर के क्षेत्र में लगभग 4 करोड़ छात्र-छात्राओं को रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने वाला है। टीआईएसएस यूनिवर्सिटी स्कूल ऑफ वैकेशनल एजूकेशन के संस्थापक एवं सीईओ  गुलशन बबेजा ने डीपीजी कॉलेज ऑफ गु्रप्स के संचालकों का इस तरह के केन्द्र की शुरूआत करने के लिए आभार व्यक्त किया। उन्होंने बताया कि इस कोर्स में प्रशिक्षण प्राप्त करने के लिए योग्यता 12वीं पास और इसकी अवधि 3 वर्ष तक की है और यह एक प्रकार का डिग्री कोर्स भी है जिसमें बैचलर्स इन डायलिसिस टेक्नोलॉजी, बैचलर्स इन मेडिकल इमेजिंग टेक्नोलॉजी, बैचलर्स इन मेडिकल लैब टेक्नोलॉजी, और बैचलर्स इन पेसेन्टकेयर मैनेजमैंट जैसे 4 मुख्य कोर्स उपलब्ध हैं।  
 

You can share this post!

Comments

Leave Comments