• 11:21 pm
news-details
फूड रेसिपी

प्याज ने निकाले आंसू तो टमाटर के तेवर लाल

-गृहणियों की रसोई का बिगड़ा बजट
अभिनव इंडिया/रंजीता आर्या
नई दिल्ली।
प्याज व टमाटर की बढ़ती कीमतों से दिल्ली-एनसीआर के लोगों को राहत मिलती नजर नहीं आ रही है। लगातार बढ़ती कीमतों के कारण गृहणी व आम आदमी परेशान हो गया है। गृहणियों की रसोई महंगी हो गई है। मंडियों में प्याज व टमाटर की आवक कम हो गई है। गृहणियों गायत्री, रंजना यादव, पूजा, आरती आदि का कहना है कि प्याज व टमाटर की दरों में लगातार वृद्धि हो रही है। बढ़ती दरों के कारण जहां पहले एक किलो प्याज लेते थे, वहीं अब आधा किलो प्याज लेकर ही काम चलाना पड़ रहा है। सब्जी विक्रेताओं का अनुमान था कि दीपावली के बाद प्याज व टमाटर की आवक होने से कीमतों में गिरावट आएगी, लेकिन एेसा हुआ नहीं। महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश, उत्तरप्रदेश, नासिक व गुजरात तथा कर्नाटक में मानसून के दौरान हुई भारी बारिश से आई बाढ़ के कारण अधिकांश प्याज की फसल खराब होने से प्याज की आवक बंद हो हो गई, जिससे गत सितंबर माह से प्याज व टमाटर की कीमतें आसमान छू रही हैं। गुरुग्राम के खांडसा रोड स्थित सब्जी मंडी में थोक के भाव में प्याज 60 से 62 रूपए किलो मिल रही है। वहीं गुरूद्वारा रोड स्थित सब्जी मंडी में  70 से 80 रूपए किलो मिल रही है। आवासीय क्षेत्रों में 90 से 100 रुपए प्रति किलो तक बिक रही हैं। केंद्र सरकार प्याज आयात करने की योजना बना रही है, जिसके बाद प्याज की किल्लत से लोगों को छुटकारा मिल सकता है। 
प्याज मंहगी होने की वजह: 
खांडसा रोड स्थित सब्जी मंडी के प्रधान इंद्र सिंह का कहना है कि केवल गुडगांव शहर में 130 टन प्याज की प्रतिदिन खपत होती है, लेकिन वर्तमान में 70 से 75 टन ही प्याज मंडी में आ रही है। जिसके कारण लगभग 60 टन प्याज कम पड़ जाती है। इसी के कारण प्याज के भाव बढ़ रहे हैं। अभी केवल नई प्याज राजस्थान के अलवर व जयपुर से आनी शुरू हुई है। 20 नंवबर तक अन्य राज्यों से प्याज की आवक शुरू हो जाएगी। उसके बाद प्याज के भाव सामान्य हो जाएंगे।  
टमाटर के तेवर लाल:
सब्जी विक्रेताओं का कहना है कि गुडग़ांव में लगभग 350 टन टमाटर की खपत प्रतिदिन है। लेकिन औरंगाबाद, बैंगलूर, गिलानौर, मदनपल्ली, मध्य प्रदेश के शिवपुरी का टमाटर खत्म होता जा रहा है, जिसके कारण लगभग 250 टन टमाटर ही आ रहा है। आवक न होने से टमाटर भी महंगा होता जा रहा है। शीघ्र ही राजस्थान के शाहपुरा, अलवर तथा लोकल क्षेत्र से आवक शुरू हो जाएगी।   
 

You can share this post!

Comments

Leave Comments