• 05:19 pm
news-details
क्राइम

थाना में नॉर्थ-ईस्ट की महिला को प्रताडि़त करने पर चार लाईन हाजिर

अभिनव इंडिया/सतीश यादव
गुरुग्राम।
पूछताछ के चलते थाना में नॉर्थ-ईस्ट की महिला को प्रताडि़त करने पर पुलिस आयुक्त ने डीएलएफ फेज-1 थाना प्रभारी संवित कुमार सहित चार पुलिसकर्मियों को लाइन हाजिर कर दिया। आरोप है कि महिला को डीएलएफ फेज वन थाने में दस घंटे तक रख कर जबरन जुर्म कबूल कराने के लिए पुलिस कर्मियों ने मारपीट की। वहीं पुलिस पुलिस आयुक्त ने मामले की एसपी को सौंपी है। जांच में दोषी पाए जाने पर आरोपियों को निलंबित कर दिया जाएगा। असम मूल की 30 वर्षीया महिला रोजी (बदला हुआ नाम) डीएलएफ फेज-1 एच ब्लॉक स्थित एक कोठी में घरेलू सहायिका के तौर पर काम करती थी। बीती 31 अगस्त को कोठी में चोरी होने पर कोठी मालिक ने रोजी सहित दो अन्य महिलाओं पर चोरी का शक जताया। जिसके बाद डीएलएफ फेज-1 थाना पुलिस ने रोजी के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया। मामले में आईओ एएसआई मधुबाला को नियुक्त किया गया। मंगलवार की सुबह रोजी को थाना में बुला लिया गया। पीडि़ता का आरोप है कि उसे थाने में बने कमरे में ले जाकर कपड़े उतार कर बुरी तरह से मारा गया। उसे बैल्ट और बैटन से मारा गया और उसे चोरी की हामी भरने का दबाव डाला गया। रात करीब नौ महिला के पति को बुलाया गया और महिला को दोबारा लाने की कहकर थाने से भेज दिया गया था। महिला को इस तरह पीटा गया कि वह ठीक से चलने की स्थिति में नहीं थी। उसे ऑटो से कमरे तक लाया गया था। वहीं पुलिस ने रोजी के पति को जब बुधवार की सुबह रोजी को थाने में पेश करने की बात कही तो उसने दिल्ली में व आसपास नॉर्थ-ईस्ट से जुुड़े संगठनों को सूचना दी। इसके बाद संगठन से जुड़े पदाधिकारियों ने गुरुग्राम पहुंचकर पुलिस आयुक्त मौहम्मद अकील के ऑवास के बाहर प्रदर्शन किया। उन्होंने थाना प्रभारी सहित आरोपित पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की। पुलिस आयुक्त ने एसीपी अमन यादव को मामले की जांच की जिम्मेदारी सौंपी। एसीपी ने मामले की रिपोर्ट आला अधिकारियों को भेज दी गई है। जिसके बाद पुलिस आयुक्त मोहम्मद अकील ने डीएलएफ फेज-1 थाना प्रभारी संवित समेत चार पुलिसकर्मियों को लाइन हाजिर कर दिया। 
पीआरओ का कहना:
गुरुग्राम पुलिस के पीआरओ सुभाष बोकन ने बताया कि विभाग को पुलिस कर्मियों के खिलाफ शिकायत मिली। मामले की जांच के बाद आरोपित डीएलएफ फेज 1 के प्रभारी संवित कुमार, एएसआई मधुबाला, एचसी अनिल कुमार व महिला कांस्टेबल कविता को लाईन पर भेज दिया गया। 
 

You can share this post!

Comments

Leave Comments